Welcome to Pareek Jagran
 
 











 
पारीक जागरण
पारीक समाज को समर्पित इस वेब साईट pareekjagran.com में आप का स्वागत है |
वर्ष 2010 से पारीक समाज को समर्पित इस वेब साईट को बनाने का मूल उद्देश्य विश्व भर में फैले पारीक समाज को इस नवीनतम तकनीक के माध्यम से वे सारी जानकारी उपलब्ध करवाना है जिनको हम अपनी व्यवस्तम दिनचर्या के कारण जान नहीं पाते | यह वेब साईट उन शहरी महिलाओ को ध्यान मै रख कर बनाई गई है जो विवाह के पश्च्यात अपनी रीती रिवाजो के अनुसार व्रत आदि करना चाहती है किन्तु उन्हें व्रत कि कहानी, व्रत की विधि, तिथि या मास की पूर्ण जानकारी नहीं है जिसके कारण कई वार उनसे व्रत छुट जाते है | हमने इस वेब साईट मै यथासंभव वे सारी जानकारी उपलब्ध करवाई है और आशा करते है कि आपलोग लाभान्वित होंगे |
आगे निम्नलिखित मेनू कि व्याख्या दी गई है जिनके माध्यम से आप बड़े आसानी से इस वेब साईट का सम्पूर्ण लाभ उठा सकेंगे |
आरती संग्रह के अन्तर्गत हिन्दुओ द्वारा पूजे जानेवाले देवी - देवताओ कि आरती संगृहीत कि गई है |
चालीसा संग्रह के अन्तर्गत हिन्दुओ द्वारा पूजे जानेवाले देवी - देवताओ का चालीसा संगृहीत किया गया है |
व्रत व त्यौहार के अन्तर्गत चैत मास, जेठ मास, आषाढ मास, श्रावण़ मास, भाद्रवा मास, आस्योज मास, कार्तिक मास, पौष मास, माघ मास, फागुन मास एवं मल मास मै आनेवाले व्रत कि जानकारी तथा उनकी कहानिया को सविस्तार बताया गया है |
रामचरित मानस के अन्तर्गत रामायण के बालकाण्ड, अयोध्याकाण्ड, अरण्यकाण्ड, किष्किन्धाकाण्ड, सुंदरकाण्ड, लंकाकाण्ड, उत्तरकाण्ड का संस्कृत और हिंदी मै व्याख्या सहित विवरण उपलब्ध है |
श्रीमद्भगवद्गीता के अन्तर्गत गीता के एक से अठारह अध्याय का संस्कृत और हिंदी मै व्याख्या सहित विवरण उपलब्ध है |
वेद के अन्तर्गत ऋग्वेदः, सामवेद, यजुर्वेद, अथर्ववेद एवं उपनि‍षद कि विस्तृत जानकारी उपलब्ध है |
व्रतकथा के अन्तर्गत सोमवार व्रतकथा, मंगलवार व्रतकथा, बुधवार व्रतकथा, बृहस्पतिवार व्रतकथा, शुक्रवार व्रतकथा, शनिवार व्रतकथा एवं रविवार व्रतकथा का वर्णन किया गया है |
विशेष के अन्तर्गत सहस्त्र नामावली, देवी दुर्गा के अन्य रूपों का वर्णन, राशी फल, आप और तिल, ऋषिमुनियों कि जयन्तियां, रामायण महामंत्र एवं शनि की साढ़े साती निवारण का उपाय के विषय मै जानकारी दी गई है |
pareekjagran.com को अपने सुझाव / भूल सुधार अथवा किसी प्रकार कि सूचना देने के लिए Feedback का प्रयोग करे |
हम आप से सहयोग, मार्गदर्शन तथा उत्साहवर्धन कि आशा रखते हैं |
धन्यवाद |
Note : इस वेब साईट मै संकलित लेख / निबंध / कहानी / किस्से इत्यादि पर कानूनन हक़ / अधिकार उस के लेखक या उसके असली मालिको का है | www.pareekjagran.com वेब साईट पर लिखित अथवा प्रशारित किसी भी लेख कि सत्यता को सत्यापित उस (लेख / निबंध / कहानी / किस्से इत्यादि) के लेखक ही करेंगे |
 
होम | अबाउट अस | आरती संग्रह | चालीसा संग्रह | व्रत व त्यौहार | रामचरित मानस | श्रीमद्भगवद्गीता | वेद | व्रतकथा | विशेष
Powered by: ARK Web Solution